Monday, October 02, 2017

दूसरों के वास्ते तुम जीना सिखा गए....

आज के दिन दो महापुरुषों महात्मा गांधी और लाल बहादुर शास्त्री जी की जयंती है.... दोनों को नमन करते हुए.... प्रस्तुत है मेरा इनके लिये लिखा गया मुक्तक....

महात्मा गांधी
:::::::::::::::::::::::::::::
जो भी था तुम्हारे पास देश पर लुटा गए
हँसते-हँसते देश के लिए ही गोली खा गए,
यूं तो सभी जीते हैं अपने - अपने वास्ते
दूसरों के वास्ते तुम जीना सिखा गए....

लाल बहादुर शास्त्री 
::::::::::::::::::::::::::::::::::::::
तख़्त-ओ-ताज पा के भी आम आदमी रहे
कोशिश की हर जगह सिर्फ सादगी रहे,
करके दिखा दिया कि मुल्क साथ आएगा
शर्त मगर एक कि ईमान लाजमी रहे.....

- VISHAAL CHARCHCHIT

Saturday, September 30, 2017

::::::::::::::: शुभ दशहरा :::::::::::::::::

////// अत्यन्त मंगलमय हो दशहरा //////

- ताकि आज के सारे रावणों का विनाश हो !!!
- ताकि धरा पर सुख - शान्ति का वास हो !!!
- ताकि कटुता व वैमन्स्य समूल नष्ट हो !!!
- ताकि दूर सदा सभी के सकल कष्ट हों !!!
- ताकि पुण्य जीत एवं पाप की हार हो !!!
- ताकि मानवता का पूर्ण सत्कार हो !!!

::::::::::::::: शुभ दशहरा :::::::::::::::::

Saturday, September 23, 2017

////////////// जय माता दी //////////////


माँ के आशीर्वाद से नवरात्र मंगलकारी हो
मेरे सभी मित्रों के लिए हर्ष आनंदकारी हो,
सबके सारे सपने साकार हों एक - एक कर
आने वाला वर्ष ये विशेष कल्याणकारी हो...

////////////// जय माता दी //////////////

Thursday, September 14, 2017

|| जय हिंद - जय हिन्दी ||


भारत माता की वाणी
हिंदी से जुडा पावन अवसर,
आओ करें संकल्प करेंगे
इसका प्रयोग हर स्तर पर...

हम रहें कहीं भी नहीं भूलते
जैसे अपनी माँ को,
याद रखेंगे वैसे ही हम
हिंदी की गरिमा को...

इन्टरनेट पर जहाँ कहीं भी
अंग्रेजी हो मजबूरी,
वहाँ छोड़कर हो प्रयास कि
हिंदी से हो कम दूरी....

जाएँ विदेशों में भी तो
हम उन्हें सिखाकर आयें,
यही नहीं कि "हिन्दी दिवस" पर
खाली दें शुभकामनायें...

|| जय हिंद - जय हिन्दी ||

- विशाल चर्चित

Friday, August 25, 2017

कोई इन्हें समझाओ, सरहद पर ले जाओ...

देश के करोड़ों युवा
छोड़-छाड़ कारोबार
हैं जीने-मरने को तैयार,
आशारामों और गुरुमीतों
के इर्द गिर्द ही
घूमता हुआ इनका संसार...

देश की बेचारी सरकार
इनके आगे हो रही लाचार,
लाखों की पुलिस फोर्स
इनको काबू करने में 
हो रही है बेकार...

तमाम मीडिया वाले
कर दिया अपने को 
इनके हवाले,
जहां देखो वहां
दिख रही बस इनकी ही खबरें,
इतनी है इनकी ताकत
बाप रे - बाप रे...

ऐसे में 'चर्चित' का 
दिमाग भिन्नाया,
चीन और पाक का
इलाज नजर आया,
हर एक गुरुमीत समर्थक
मानव बम नजर आया...

कोई इन्हें समझाओ
सरहद पर ले जाओ,
दुश्मन देश की सीमा में
तिरंगा अपना फहराओ...

- विशाल चर्चित

अच्छे दिन जब आयेंगे महंगा मोदक लायेंगे...

अभी यही प्रभु सस्ता मोदक
महंगाई मुंह बाये जब तक

अच्छे दिन जब आयेंगे
महंगा मोदक लायेंगे

करो कृपा कुछ तुम्हीं गजानन
विघ्न दूर हो आनन फानन

लाखों के कुछ काम बनें तो
थोड़ा हम भी नाम करें तो

दरियादिल हम दिखला देंगे
भारी मोदक भी ला देंगे

नेताओं से झूठे वादे
नहीं हमें हैं करने आते

सीधा सुनना - सीधा कहना
हर हालत में सीधे रहना

फिर भी कछुआ चाल जिन्दगी
ज्यादा आगे नहीं बढ़ सकी

तुम चाहो तो क्या मुश्किल है
चलकर आती खुद मंजिल है

'चर्चित' की चर्चा करवा दो
धन की भी वर्षा करवा दो

अच्छाई की जीत सदा है
ये सच फिर साबित करवा दो

- विशाल चर्चित